नो बैग डे पर शनिवार को वृद्धाश्रमों में सेवा कर सकेंगे बच्चे, सरकार ने जारी किए आदेश

अलवर

स्कूल खुलने पर करनी होगी सरकार के निर्देशों की पालना
कोरोना काल में स्कूल खुले हैं, लेकिन सरकार के आदेशों की पालना में बच्चे अभी स्कूल नहीं आ रहे हैं। ऐसे में सरकार ने स्कूल खुलने के बाद शनिवार को मनाए जाने वाले नो बैग डे को लेकर डीईओ प्रारंभिक को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इन निर्देशों में कहा गया है कि नो बैग डे पर शनिवार को संस्था प्रधान एवं स्टाफ का यह कार्य रहेगा कि वे स्कूल समय में बच्चों को विभिन्न सहशैक्षिक गतिविधियों में व्यस्त रखते हुए ऑल राउंड डवलपमेंट करें।

अतिरिक्त निदेशक ने निर्देशों में कहा है कि पूरे विद्यालय को विभिन्न सदनों में बांटकर सदनवार प्रतियोगिता करवाई जा सकती है। इसके अलावा वृद्धाश्रमों में सेवा के कार्य भी करवाए जाते हैं। देशभक्ति गीत, संगीत, क्विज, निबंध प्रतियोगिता, आशु भाषण, काव्य पाठन, नृत्य, गायन प्रतियोगिता करवाई जा सकती हैं। खेलकूद को बढ़ावा देने के लिए खो-खो, चैस, बैडमिंटन, वॉलीबाल, बास्केटबॉल प्रतियोगिता की जा सकती है।

स्वस्थ शरीर में स्वस्थ्य मस्तिष्क निवास करता है इस थीम को ध्यान में रखते हुए योगा, मौखिक गतिविधियां जैसे कविताएं, कहानियां, स्पेलिंग पूछना, पहेलियां करवाई जा सकती हैं। बच्चों से श्रमदान भी करवाया जा सकता है। इसके अलावा स्वतंत्रता सेनानी, सुधारक, महान वैज्ञानिकों पर फिल्म दिखाकर प्रेरित किया जा सकता है। डीईओ प्रारंभिक नेकीराम ने बताया कि नो बैग डे को लेकर निदेशालय से मिले निर्देशों को संस्था प्रधानों तक भिजवा दिया है। स्कूल खुलते ही इन निर्देशों की पालना की जाएगी। विभिन्न गतिविधियों से बच्चों का संपूर्ण विकास होगा और उन्हें पढ़ाई बोझ नहीं लगेगी।

Don`t copy text!