प्रदेश के सहकारिता मंत्री नही बचा पाए भाई की सीट तो वही अब दिग्गजों में मचेगी प्रमुख की होड़

वीरधरा न्यूज़।चित्तौड़गढ़@ डेस्क।
चित्तौड़गढ़ जिले में मंगलवार को आये पंचायतीराज चुनाव के परिणामो ने कई दिग्गज नेताओ का समीकरण बिगाड़ दिया है।
निम्बाहेड़ा क्षेत्र की बात करे तो जहा वार्ड 18 से सहकारिता मंत्री स्वयं अपने भाई व पूर्व प्रधान रहे मनोहरलाल आंजना की सीट नही बचा पाए ओर जिनको भाजपा प्रत्याशी भूपरेन्द्रसिंह बडोली ने शिकस्त दी जिसे प्रत्याशी के साथ साथ मंत्री की बड़ी हार बताया जा रहा है इसके विपरीत इस सीट पर भाजपा के पूर्व यूडीएच मंत्री, पूर्व युआईटी चेयरमैन सहित दिग्गजों ने जो मेहनत की वह रंग लाई ओर आखिर यह सीट भाजपा के दामन में आई।
दूसरी ओर वार्ड 13 से भाजयुमो के निम्बाहेड़ा पूर्वी मंडल अध्यक्ष गब्बरसिंह ने भी जिला परिषद सदस्य के लिए अपनी किस्मत आजमाई जिन्होंने 4020 वोट से कोंग्रेस प्रत्याशी को हराकर जिला प्रमुख की दौड़ में आ गए है।
इधर निम्बाहेड़ा क्षेत्र से ही एक ओर जिला परिषद वार्ड 12 से भाजपा प्रत्याशी पार्वती धाकड़ ने जीत दर्ज की।
हालांकि सहकारिता मंत्री के भाई मनोहरलाल आंजना ने एक हाथ मे जिला परिषद का तो दूसरे हाथ पंचायत समिति का लाडू रखा था हालांकि पंचायत समिति का चुनाव उन्होंने जीत लेकिन वो भी कोई बड़ी जीत हासिल नही कर पाए।
इससे इन परिणामो के बाद कई दिग्गज नेताओं के समीकरण बिगड़ गए तो वही अब भाजपा जिला प्रमुख बनना तो तय हुआ लेकिन कोन बनेगा इसकी कशमकश भी शुरू हो गई है।