कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए जनजागरूकता अभियान में और तेजी लाएं जनसंपर्क अधिकारी-आयुक्त, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग

रिपोर्टर श्री राहुल भारद्वाज
वीरधरा न्यूज़। जयपुर
सूचना एवं जनसंपर्क आयुक्त महेन्द्र सोनी ने कहा कि राज्य में कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या पर नियंत्रण के लिए जरूरी है कि आमजन को लगातार इस बीमारी से लड़ने और इससे बचाव के उपायों के बारे में जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य भर में चलाए जा रहे इस जागरूकता अभियान के चौथे चरण में जनजागरूकता के कार्य को और भी अधिक गंभीरता से करने तथा नवाचारों के जरिये लोगों तक संदेश पहुंचाने की आवश्यकता है।

सोनी सोमवार को वीसी के जरिये आयोजित जिला जनसंपर्क अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने राज्य भर में कोरोना के खिलाफ चलाए जा रहे जनजागरूकता अभियान के तहत जिला जनसंपर्क अधिकारियों से उनके जिले में संचालित की जा रही विभिन्न गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के दुष्प्रभाव और इससे बचाव के उपायों के सम्बन्ध में जानकारी होने के बावजूद लोग लापरवाही करते हैं। बीते दिनों त्यौहारी सीजन, चुनाव, सर्दी के मौसम तथा विवाह आयोजनों के कारण भी प्रदेश में कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ी है। यही कारण है कि राज्य के कुछ जिलों में कोविड के मामलों में तेजी आई है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि लोगों को इस अभियान के जरिये लगातार मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइजेशन के नियमों की पालना के बारे में जागरूक करने के प्रयासों में कोई कमी नहीं आने दी जाए।

सोनी ने जिला जनसंपर्क अधिकारियों से कहा कि इस बीमारी के प्रभाव को कम से कम करना तथा जान की हानि रोकना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। इस अभियान के लिए बजट की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि फिलहाल बचाव ही इस बीमारी से निपटने का एकमात्र साधन है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इस बीमारी के संबंध में जानकारी पहुंचाना जरूरी है। उन्होंने इलाज में देरी घातक है तथा लक्षणों को नजर अंदाज ना करने के लिए आम जन को आगाह करने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग भी सक्रियता से करने के लिए सुझाव दिया।

जनसंपर्क आयुक्त ने कहा कि सभी जिलों विशेषकर जयपुर, उदयपुर, जोधपुर, अजमेर, कोटा, बीकानेर, अलवर तथा भीलवाड़ा जिलों में, जहां कोविड के मामलों में बढ़ोतरी अपेक्षाकृत अधिक है, वहां सघन अभियान चलाए जाने की आवश्यकता है।

बैठक में सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की अतिरिक्त निदेशक श्रीमती अल्का सक्सैना, विभाग के वित्तीय सलाहकार सुभाष दानोदिया उपस्थित थे। सभी जिलों के प्रभारी जनसंपर्क अधिकारियों ने वीसी के माध्यम से बैठक में हिस्सा लिया।

Don`t copy text!