डुंगला- गणतंत्र दिवस पर डूंगला से बड़ी सादड़ी किसान आर्थिक आजादी यात्रा होगी 5 सूत्री मांगों के साथ।

वीरधरा न्यूज़।डूंगला @ श्री पवन अग्रवाल।
डूंगला। 1997-98 से 2021 तक अफीम खेती से जुड़े वंचित और पात्र 1लाख 60 हजार राजस्थान, मध्य प्रदेश के किसान परिवारों के प्रतिनिधियों द्वारा 26 जनवरी 2022 को गणतंत्र दिवस पर डूंगला से बड़ीसादड़ी अफीम किसान आर्थिक आजादी यात्रा 5 सूत्री मांग पत्र के साथ शुरू होगी जिसमें क्षेत्र के किसानों के साथ अन्य राज्यो के किसान भी भाग लेंगे । जानकारी संरक्षक भारतीय अफीम किसान संघर्ष समिति राजस्थान मध्य प्रदेश के मांगीलाल मेघवाल बताया गया कि किसानों की अपनी 5 सूत्री मांगे हैं जिनमें 1. 1997-98 से 2021 तक काटे गए घटिया ,घाढता ,वाटर मिक्स, सस्पेक्टेड, लो मार्फीन सहित सभी अफीम पट्टे लुवाई – चिराई के 10-10 आरी के समान अफीम पट्टे बहाली । 2. थोपा गया मार्फिन नियम समाप्त कर औसत आधार पर अफीम पट्टे देने के साथ ही साथ ₹25000 प्रति किलोग्राम अफीम का मूल्य किसान को मिले। 3. एसीबी द्वारा पकड़े गए नारकोटिक्स के अधिकारियों का नारको टेस्ट कर किसानों से लूटा हुआ पैसा वापस किसानों को लौटाया जाए।
4.29/8 धारा एनडीपी एक्ट से हटाकर भारतीय अफीम किसान संघर्ष समिति राजस्थान मध्य प्रदेश 5. अफीम नीति संशोधन में किसी भी प्रकार का संशय या असुविधा है तो, 2008 से 2021 तक लगातार संघर्ष कर रहे संघर्षी किसानों को माननीय प्रधानमंत्री महोदय से 5 मिनट ही सही नारकोटिक्स विभाग की जमीनी हकीकत पर चर्चा करने का समय दिलाया जाए। राजस्थान मध्य प्रदेश के अफीम खेती से जुड़े वंचित और पात्र सभी किसान अपने हक अधिकार के लिए अपनी आवाज को सरकार तक पहुंचाने के लिए अपने- अपने गांव से अधिक से अधिक संख्या में पहुच कर अफीम किसान आर्थिक आजादी यात्रा में सहभागी होने के लिए पहुचे , इसके लिए सभी किसानों से आह्वान किया गया।
जिससे नारकोटिक्स विभाग में हो रहे भोले किसानों से दिनदहाड़े हो रहे भारी भ्रष्टाचार की लूट पर अंकुश लगे और परंपरागत अफीम खेती को भी बचाया जा सके, और भारत की विश्व प्रसिद्ध बढ़िया अफीम को विदेशों में निर्यात किया जा सके। मेक इन इंडिया मेड बाय किसान का नारा बुलंद रहे।

Don`t copy text!