TikTok पर प्रतिबंध लगाकर फसे ट्रंप, कंपनी के कर्मचारी ठोक सकते हैं मुकदमा

 टिकटॉक और उसके अमेरिकी कर्मचारी इस मशहूर वीडियो ऐप पर प्रतिबंध के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश को लेकर ट्रंप प्रशासन को अदालत में ले जाने की योजना बना रहे हैं। ऐसे ही एक मुकदमे की तैयारी कर रहे एक वकील ने यह जानकारी दी। कर्मचारियों के आंतरिक नीति वकील माइक गॉडविन ने कहा कि कर्मचारियों की ट्रंप के शासकीय आदेश को चुनौती ऐप का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी के लंबित एक मुकदमे से अलग होगी। हालांकि दोनों में यही दलील दी जाएगी कि आदेश असंवैधानिक है।

ट्रंप ने पिछले हफ्ते व्यापक आदेश जारी किया था जिसमें टिकटॉक और मैसेजिंग ऐप वीचैट के चीनी मालिकों के साथ सौदों पर अस्पष्ट पाबंदियां लगाई गई थीं और कहा गया था कि वे अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था के लिए खतरा हैं। टिकटॉक से जुड़ा आदेश सितंबर में प्रभाव आएगा, लेकिन यह अभी साफ नहीं है कि ऐप के 10 करोड़ अमेरिकी उपयोगकर्ताओं के लिए इसका क्या अर्थ होगा, जिनमें से अधिकतर किशोरवय या युवा हैं और इसका इस्तेमाल वीडियो डालने और देखने के लिए करते हैं।

गॉडविन ने कहा कि यह भी अस्पष्ट है कि क्या इससे टिकटॉक के लिए अमेरिका में अपने करीब 1500 कर्मचारियों को वेतन देना गैरकानूनी हो जाएगा, जिस वजह से कुछ कर्मचारी मदद के लिए उनके पास आए हैं। यह आदेश टिकटॉक और उसकी चीनी मूल कंपनी बाइटडांस के साथ किसी व्यक्ति द्वारा किसी भी तरह के लेन-देन को प्रतिबंधित करेगा।

गॉडविन ने कहा कर्मचारी इस बात को सही से समझ रहे हैं कि उनकी नौकरियां खतरे में हैं और उनका वेतन अभी खतरे में है। टिकटॉक ने पिछले सप्ताह एक बयान में कहा था कि वह हालिया शासकीय आदेश से स्तब्ध है जिसे बिना किसी उचित प्रक्रिया के जारी किया गया। उसने बृहस्पतिवार को इस संबंध में टिप्पणी करने से इनकार कर दिया कि वह अपने खुद के मुकदमे को जारी रख रही है या नहीं।