बजरंगियों ने अंतिम यात्रा निकाल माँ बेटे (बन्दर) का विधि विधान से किया अंतिम संस्कार

पत्रकार श्री दुर्गेश लक्षकार की रिपोर्ट
चित्तौड़गढ़
चित्तौड़गढ़ की ग्राम पंचायत ओछड़ी स्थित लक्ष्मीपुरा-बराडा गाँव में बंदरों का झुंड पेड़ पर अटखेलियां कर रहा था तभी एक बन्दरिया व उसका बच्चा पेड़ की एक टहनी के टूट जाने पर वह विद्युत लाइन 11000 केवी के तार से टच हो गया व एक पैर तार में अटक गया जिससे वह मादा बन्दर लगभग 10 मिनिट तक तार के झूलता रहा और वह गम्भीर घायल हो गया था। इस कारण बन्दरो में अफरा तफरी मच गई जिसके चलते बन्दरो के बच्चे इधर उधर हो गए जिसके चलते एक बन्दरो ने झुंड ने एक छोटे बच्चे बन्दर पर हमला कर उसका पेट फाड़ दिया। जिसकी सूचना मौके पर राष्ट्रीय बजरंग दल के नगर सुरक्षा प्रमुख शिव प्रकाश लोधा व ओछड़ी सरपंच मुकेश गुर्जर, उपसरपंच मदन सिंह भाटी, कान सिंह चुंडावत, को मिलने पर वह तुरंत निजी गाड़ी करके जिला पशु चिकित्सालय लेकर गए। चिकित्सालय ले जाते कुछ समय पश्चात बन्दरिया ने दम तोड़ दिया एवं एक मादा बंदर का बच्चा जीवित रहा। बजरंगियों ने बताया कि पशु चिकित्सालय में कोई स्टाफ नहीं होने के कारण सांवलियाजी चिकित्सालय ले गए। जहां पर सांवरिया जी चिकित्सालय में डॉक्टरों द्वारा बंदरिया के बच्चे का फटा पेट टांके लगाकर सीला गया। उपचार के बाद बन्दर के बच्चे को बजरंगी वापस लक्ष्मीपुरा गाँव ले लाए जहां कुछ समय के बाद बंदरिया के बच्चे ने भी दम तोड़ दिया। उसके पश्चात बंदरिया वह बच्चे को लक्ष्मीपुरा बराड़ा ग्राम लाया गया जहां पर बजरंगियों व ग्राम वासियों ने हिंदू रीति रिवाज से बन्दरिया व उसके बच्चे की अंतिम यात्रा निकाल कर नजदीकी श्मशान में अंतिम संस्कार किया गया। जहाँ बजरंग दल ग्राम अध्यक्ष देवीलाल लोधा,ओछड़ी पंचायत अध्यक्ष गोपाल लोधा, उपाध्यक्ष राजेंद्र लोधा, दीपक लोधा, पवन, सोहन, जोधु लोधा, नारायण, बालू, रमेश वैष्णव, कालू रावत, रमेश रावत,शांतिलाल सुथार, देवकिशन लोधा, बेनीराम,राजू, आदि बजरंगी एवं ग्रामवासी उपस्थित रहे।

Don`t copy text!