मुख्य सचिव ने लम्बित भर्तियों के संबंध में ली विभागों की बैठक समय पर भर्ती प्रक्रिया पूरी करने के दिये निर्देश

पत्रकार श्री राहुल भारद्वाज की रिपोर्ट
जयपुर ।
मुख्य सचिव निरंजन कुमार आर्य ने कहा कि राजस्थान प्रशासनिक सेवाओं, राज्य सेवाओं एवं अधीनस्थ सेवाओं की भर्ती कैलेंडर के अनुसार समय से पूरी हों। उन्होंने कहा कि संघ लोक सेवा आयोग की तरह ही समय पर भर्ती विज्ञापन निकले, नियमित परीक्षा हो और साक्षात्कार भी समय पर हों ताकि किसी भी स्तर पर भर्तियां लंबित नहीं रहें।

मुख्य सचिव ने सोमवार को वीसी के जरिये विभागों के सचिवों के साथ लम्बित भर्तियों के संबंध में समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को यह निर्देश दिये। समीक्षा बैठक में राजस्थान लोक सेवा आयोग तथा राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के अधिकारी भी मौजूद थे। मुख्य सचिव ने कहा कि आरपीएससी तथा आरएसएसबी कैलेंडर के हिसाब से समय पर भर्तियां पूरी करें। किसी भी विभाग द्वारा भर्ती की अभ्यर्थना भेजे जाने के बाद परीक्षा आयोजित होने एवं परिणाम जारी होने में ज्यादा समय नहीं लगना चाहिये।

मुख्य सचिव ने कहा कि न्यायिक प्रक्रिया के कारण रुकी हुई भर्तियों के प्रकरणों की प्रभावी पैरवी की जानी चाहिये। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग द्वारा न्यायालयों में अपना पक्ष मजबूती से रखा जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि भर्तियों के कोर्ट में अटकने के कारण कई बार अभ्यर्थियों को नियुक्ति के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार मिले और भर्तियों की प्रक्रिया किसी भी स्तर पर लंबित नहीं रहे। उन्होंने सभी विभागों के सचिवों को निर्देश दिये कि वे अपने विभाग में भर्तियों की स्थिति नियमित रूप से अपडेट करते रहें, ताकि वस्तुःस्थिति की जानकारी मिलती रहे।

आर्य ने राज. लोक सेवा आयोग की सचिव शुभम चौधरी तथा राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के सचिव मुकुट बिहारी से भी कहा कि वे उनके स्तर पर लम्बित भर्तियों की प्रक्रिया को जल्दी से जल्दी पूरा करें। मुख्य सचिव के साथ बैठक में कार्मिक विभाग के शासन सचिव हेमन्त कुमार गेरा उपस्थित थे।

बैठक में वीसी के माध्यम से प्रमुख शासन सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती अपर्णा अरोड़ा, वन एवं पर्यावरण विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रीमती श्रेया गुहा, कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव कुंजी लाल मीणा, प्रमुख शासन सचिव सूचना प्रोद्योगिकी विभाग अजिताभ शर्मा, उर्जा विभाग के प्रमुख शासन सचिव दिनेश कुमार, शासन सचिव स्वायत्त शासन विभाग भवानी सिंह देथा, श्रम, रोजगार, कौशल एवं उद्यमिता विभाग शासन सचिव नीरज के पवन, शासन सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग सिद्धार्थ महाजन , विशिष्ट शासन सचिव गृह विभाग वी. सरवन कुमार, विशिष्ट शासन सचिव जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग उर्मिला राजोरिया तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग की आयुक्त श्रीमती शिवांगी स्वर्णकार शामिल हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!