जिले में निजी विद्यालयों के अध्यपकों ने आर्थिक संकट से गुजरते की वेतन की मांग, शिक्षामंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

वीरधरा न्यूज़।चित्तौड़गढ़ @ डेस्क।

नोन गवर्नमेंट टीचर एसोसिएशन ऑफ इंडिया राजस्थान की चित्तौड़गढ़ शाखा द्वारा निजी विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों तथा कर्मचारियों की शिकायत मांगो एवं अधिकारों की रक्षा के लिए शिक्षा मंत्री राजस्थान सरकार को जिला कलेक्टर व जिला शिक्षा अधिकारी के माध्यम से ज्ञापन दिया।
ज्ञापन में बताया कि निजी विद्यालय में कार्यरत शिक्षकों तथा कर्मचारियों को पिछले 11 माह से वेतन नहीं मिला है और महामारी के इस दौर में शिक्षक आर्थिक संकट से गुजर रहे हैं।
संभाग प्रभारी लोकेश कुमार एवं
मुकेश कुमार ने बताया कि परिवार भूखे मरने की स्थिति में आ गया है। शिक्षक इधर उधर से उधार मांग कर अपना व अपने परिवार का पेट पालने को मजबूर हो रहा है । संकट की घड़ी में बेचारे शिक्षक के साथ कोई नहीं है। विद्यालय प्रबंधन नहीं सुन रहाहै। न ही सरकार सुन रही है। विद्यालय प्रबंधन वेतन नहीं दे रहे हैं ओर कार्य पर भी नहीं बुला रहे हैं।कई शिक्षकों का तो वेतन एक वर्ष से भी अधिक समय से नहीं मिला हे।
विद्यालय प्रबंधन और सरकार इन शिक्षकों के अधिकारों का हनन कर इनको को आर्थिक संकट में डाल रही है ओर सरकारी नियमों की अवहेलना करने से भी नहीं चूक रहे हैं ।
सभी कर्मचारियों की मांगें पर सरकार कार्यवाही करें ओर शिक्षकों को अपने अधिकार दिलाएं ।
इस अवसर पर संभाग प्रभारी मुकेश कुमार, जिला प्रभारी लोकेश कुमार एवं प्रहलाद कुमार, प्रदीप कुमार समुंद्र सिंह, मनोहर आदि उपस्थित थे।

Don`t copy text!