कृषि कानूनों का विरोध किसानों के भारत बन्द को कोंग्रेस, आरएलपी, जाट महासभा का समर्थन, बेनीवाल ने काला कानुन बताया।

वीरधरा न्यूज़। जयपुर @ चौहान न्यूज़ एजेंसी
 जयपुर।  नए किसान कानून के विरोध में चल रहा आंदोलन का आज 11 वां दिन है। किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किया है। किसानों के समर्थन में कांग्रेस और एनडीए के घटक दल आरएलपी ने भी प्रदेश में बंद ऐलान किया है। आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल ने इसे काला कानून बताया है। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार ने किसानों की बात नहीं मानी तो 8 दिसंबर के साथ गठबंधन पर फैसला ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर कहा कि वे किसानों के प्रबल समर्थक हैं और किसान हितों से जुड़े इस मुद्दे को देश के कोने-कोने में ले जाने के लिए कांग्रेस का हर कार्यकर्ता उनके साथ खड़ा है। रेटेड में जाट महासभा ने भी किसान आंदोलन और 8 दिसंबर को बंद का समर्थन किया है। प्रदेशाध्यक्ष राजाराम मील के नेतृत्व में कल एक रैली निकाली जाएगी। जिसमें शाहपुरा, कोटपूतली, बहरोड़, नीमराणा, शाहजहांपुर के किसान आंदोलन में शामिल होंगे।

 भारत बंद को भारतीय किसान संघ का समर्थन नहीं 
भारतीय किसान संघ ने 8 दिसंबर को किसानों के भारत बंद का समर्थन नहीं दिया है। किसान संघ द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि विदेशी ताकतें, राष्ट्रद्रोही तत्व और कुछ राजनैतिक दलों द्वारा किसान आंदोलन को अराजकता की ओर मोड़ने का प्रयास है।

Don`t copy text!