विधायक जोगेन्द्र सिंह अवाना को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए: भाजपा प्रवक्ता रामलाल शर्मा

वीरधरा न्यूज़। जयपुर @ श्री राहुल भारद्वाज.
जयपुर। भाजपा प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार यह मानकर चलती है कि हमारी पवित्र गंगा है और इस गंगा के अन्दर जो भी डुबकी लगायेगा, वो पाक-साफ हो जायेगा और इसी नीयत के साथ उन्होंने जितने भी विधायक चाहे बसपा से हों, चाहे बीटीपी से हों, चाहे निर्दलीय हों पार्टी के अन्दर अपनी सरकार बचाने के लिए समावेश किये, उसका मुख्य आधार यही है कि उनका चरित्र चाहे जैसा भी हो, चाहे कैसे उन पर आरोप हो संगीन आरोप लगे, लेकिन मेरी सरकार बचनी चाहिए।
रामलाल शर्मा ने कहा कि कुछ दिनों पहले कांग्रेस सरकार के ही पूर्व मंत्री एवं विधायक महेन्द्र सिंह मालवीया ने कहा है कि बीटीपी के विधायकों को सरकार बचाने के लिए 10-10 करोड़ रूपये दिये थे। यह आरोप कांग्रेस के विधायक ही लगा रहे हैं।
रामलाल शर्मा ने कहा कि अब नया मामला नदबई विधायक जोगेन्द्र सिंह अवाना का आया है, जिनका नाम 10 हजार करोड़ रूपये का जो बाइक बोट घोटाला में आया है। विधायक अवाना को संबंधित एजेंसियों से जांच होने तक नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए, राजस्थान सरकार भी कम से कम ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही करे और कार्यवाही इस आधार के ऊपर करे कि जहां सरकार यह कहती है कि संवेदनशील है, पारदर्शी है और सरकार नीतियों के आधार पर चलने का काम करती है, मेरे ख्याल से सिर्फ सरकार बचाने के लिए ही आप किसी भी चरित्र को शामिल करोगे, यह उचित नहीं है।

Don`t copy text!