बोराखेड़ी में काका को लूटने का मास्टरमाइंड भतीजा ही निकला, चाकू मार की लूट, 3 नाबालिक डिटेन, 2 गिरफ्तार।

वीरधरा न्यूज़।चित्तोड़गढ़@डेस्क।


चित्तौड़गढ़।अपने मौज शौक को पूरा करने के लिए बोराखेड़ी गांव में भतीजे ने अपने ही काका को लूटने का प्लान बनाया। इस लूट में उसका एक साथी और तीन नाबालिग साथी भी शामिल थे। लूट के दौरान पीड़ित बुरी तरह घायल हो गया, जिसका अभी भी इलाज चल रहा है। लूट के 95 हजार रुपए बरामद कर लिए गए। मामला निंबाहेड़ा सदर थाने का है।
थानाधिकारी तुलसीराम ने बताया कि लूट और जान से मार डालने की नियत से हमला करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और साथ ही उनके तीन नाबालिग दोस्तों को डिटेन किया गया। सभी को गांव से ही पकड़ा गया।
थानाधिकारी तुलसीराम ने बताया कि 21 जून को बोराखेड़ी गांव से सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति को किसी ने चाकू मार दिया। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो गांव के शंकर उर्फ दुर्गाशंकर ने बताया कि गांव के ही बरौली चौराहे के पास में गोपाल पुत्र बालमुकुंद शर्मा और उसका भतीजा प्रकाश पुत्र नंदलाल शर्मा बैठे थे कि अचानक मोटरसाइकिल पर सवार तीन लोग आए और गोपाल पर चाकू से हमला कर एक लाख रूपए लूट कर ले गए। इस हमले में गोपाल बुरी तरह घायल हो गया।
सट्टा और नशे का आदी है आरोपी प्रकाश

इस दौरान पुलिस ने प्रकाश का भी मेडिकल करवाने की बात कही, लेकिन उसने मेडिकल बिना कराया ही मौके से भाग निकला। इस पर पुलिस को शक हुआ और उसे ढूंढ निकाला। पुलिस ने जब सख्ती के साथ पूछताछ की तो प्रकाश ने कई खुलासे किए। प्रकाश नशे का आदी है और साथ ही जुआ सट्टा भी खेलता है। इस बात की जानकारी प्रकाश के पिता नंदलाल शर्मा को भी है। पिता एक धनाढ्य परिवार से होने के बावजूद भी बेटे के गलत कामों के लिए पैसे नहीं देते हैं, जबकि प्रकाश अपने चाचा गोपाल के साथ रहता है। दोनों ही शराब पीने के आदी है इसीलिए एक दूसरे के साथ रहना पसंद करते हैं।
ऐसे दिया प्लान को अंजाम

काका गोपाल निंबाहेड़ा से समिति बदली के लिए एक लाख रुपए उधार लाने वाला था। इस बात की जानकारी प्रकाश को पहले से ही थी। अपने मौज शौक के लिए प्रकाश को रुपयों की जरूरत थी। इसीलिए उसने अपने ही गांव के एक नाबालिक दोस्त के साथ मिलकर प्लान बनाया। नाबालिग दोस्त ने बापू बस्ती निंबाहेडा में रहने वाले अपने दो अन्य नाबालिग दोस्तों और मंदसौर हाल निंबाहेड़ा निवासी लखन पुत्र तेजल बंजारा को इस प्लान में शामिल किया। जैसे ही गोपाल निंबाहेड़ा से उधार रुपए लेकर आया, उस दौरान प्रकाश भी साथ में था। प्लान के हिसाब से तीनों नाबालिक और लखन बाइक पर बैठकर बडोली माधो सिंह चौराहे पर पहुंचे। रास्ते में प्रकाश लगातार अपने लोकेशन अपने दोस्तों को बता रहा था। चारों मौके पर पहुंचकर गोपाल पर जानलेवा हमला कर दिया और एक लाख रूपए लूटकर ले गए। गोपाल के सिर में और पेट में गंभीर चोट लगी थी। प्रकाश के निशानदेही पर अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया।
*95 हजार की राशि बरामद*

लखन यहां निंबाहेड़ा में रहकर खान में काम करता है, इसीलिए बाकी सभी लड़कों के संपर्क में था। पुलिस ने तीनों नाबालिगों को डिटेन कर लिया और लूटी गई राशि में से 95 हजार रुपए और फोन बरामद कर लिया। कार्रवाई करने वाले टीम में एसआई नारू लाल, एएसआई प्रहलाद सिंह, हेड कांबल सुंदर पाल, कॉन्स्टेबल नरेश कुमार, सुनील कुमार, हरविंदर सिंह शामिल थे। घटना के खुलासे में हेड कॉन्स्टेबल सुंदर पाल, कॉन्स्टेबल नरेश कुमार और हरविंदर सिंह का खास योगदान रहा।

Don`t copy text!