राज्यमंत्री सुरेन्द्र सिंह जाडावत के मुख्य आतिथ्य मे नगर परिषद प्रांगण मे आयोजित हुआ पट्टा वितरण कार्यक्रम।

वीरधरा न्यूज़।चित्तौड़गढ़@डेस्क।


चित्तौड़गढ़। राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे प्रशासन शहरो के संग अभियान 2021 के द्वितीय चरण के तहत चितौडगढ नगर परिषद द्वारा मंगलवार को नगर परिषद प्रांगण मे पट्टा वितरण कार्यक्रम राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्राधिकरण अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह जाडावत के मुख्य आतिथ्य मे आयोजित किया गया।

आयुक्त रविन्द्र सिंह यादव ने बताया कि राज्य सरकार चलाये जा रहे प्रशासन शहरों के संग अभियान 2021 के द्वितीय चरण के तहत नगर परिषद द्वारा मंगलवार को नगर परिषद प्रांगण मे पट्टा वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमे 221 पट्टे एवं 39 भूखंड हस्तांतरण प्रमाण पत्र लाभार्थियों को सुपुर्द किये गये।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री जाडावत ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की सोच के अनुरूप पिछले वर्ष 10 लाख पट्टे दिये जाने के लक्ष्य के साथ 2 अक्टूबर को इस अभियान की शुरूआत की गई। सब कुछ है खुद की भूमि, भवन, कोई सरकारी भूमि पर कब्जा नहीं, कोई वन क्षैत्र नही, किसी तरह की बाधा नहीं लेकिन स्वामित्व का वैध दस्तावेज नहीं होने से हमेशा डर बना रहता था । इस पीड़ा को हमारे माननीय मुख्यमंत्री ने पहचाना और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल एवं जी.एस.संधू को इसके निराकरण के निर्देश दिये, जिस पर सरकार ने 69ए की जादुई धारा बनाकर नियमो के सरलीकरण कर आमजन को राहत दी। उन्होंने कहाँ कि इस अवसर पर सभापति संदीप शर्मा सहित नगर परिषद के पार्षदगणो को भी धन्यवाद देना चाहूंगा, जिन्होंने अपने अपने क्षैत्र मे घुम-घुमकर पट्टे हेतु आवेदको को चिन्हीकरण किया तथा उनमे आने वाली समस्याओं को मुझ तक पहुँचाया, मैने एवं सभापति ने सरकार से समय समय पर इन समस्याओं को सरकार के सामने रखा तथा सरकार ने सभी समस्याओं को निराकरण करते हुए उसका लाभ सम्पूर्ण राजस्थान वासियों को मिला।

सरकार ने अब शहर के गरीब एवं बेरोजगारों के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना लागू कर दी है। इस योजना ने हमारे शहर मे सफाई, उद्यान सहित अनेक कार्य होगे तथा हमारा शहर को सुन्दर बनेगा। इसके साथ ही जल्द ही चित्तौड़गढ़ को चम्बल का पानी भी मिलने लगेगा,।मेडिकल कॉलेज इस वर्ष प्रारंभ हो जायेगा। माननीय मुख्यमंत्री ने चित्तौड़गढ़ शहर को स्मार्ट सिटी घोषित किया है, उसमे भी हमे 250 करोड रू. के विभिन्न विकास कार्य करवायेगे तथा आप सभी के मन मे भी विकास को लेकर कोई सुझाव हो तो आप हमे बताये, नगर परिषद और यूआईटी मिलकर शहर मे हजारेश्वर पुलिया, गांधीनगर से निम्बाहेडा को मिलाने हेतु अण्डरपास तथा सेंती मधुबन मे भव्य सर्वसुविधायुक्त सामुदायिक भवन बना रहे है, जिसकी स्वीकृति भी सरकार ने दे दी। इसके साथ ही 105 करोड़ रुपये. 315 बेड का हॉस्पिटल भी हमारे मेडिकल कॉलेज मे प्रारंभ हो जायेगा। शीघ्र ही माननीय मुख्यमंत्री इन सभी कार्यो को जनता को सुपुर्द करने हेतु चित्तौड़गढ़ पधारेगे। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर नगर परिषद की पूरी टीम को बधाई देता हूँ तथा यह कहना चाहूंगा कि ओर प्रयास करें तथा शहर मे सभी पात्र व्यक्तियों को पट्टे देने का पुनीत कार्य करें।

सभापति संदीप शर्मा ने स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि सरकार ने नगरीय निकाय एवं यूआईटी के माध्यम से आमजन को अधिक से अधिक लाभान्वित करने हेतु 69ए की जादुई धारा बनाई तथा हमारे द्वारा अब 1410 पट्टे वितरित किये जा चुके है, उनमे 90 प्रतिशत पट्टे 69ए के तहत जारी किये गये है, सरकार ने इस धारा की कट ऑफ डेट 2018 कर दिये जाने से हमारे द्वारा इन सभी नियमों को समाहित करते हुए आज आप समक्ष यह पट्टे वितरित किये जा रहे है तथा मै आपको विश्वास दिलाता हूँ कि आगामी 2 सप्ताह मे हमारे पास जो भी लंबित आवेदन है, उन सभी निस्तारित कर दिया जावेगा। मै इस अवसर पर हमारे राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह जाडावत का आभार एवं धन्यवाद ज्ञापित करना चाहूंगा कि, उन्होंने हमें समय समय पर मार्गदर्शन देकर हमारी समस्याओं को सरकार तक पहुंचाना और उनका निराकरण करवाया, जिससे हमारे लिए यह अभियान सार्थक बन कर सका।

कार्यक्रम मे राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह जाडावत, सभापति संदीप शर्मा, कांग्रेस नगर अध्यक्ष प्रेम प्रकाश मूंदड़ा, उपसभापति कैलाश पंवार, आयुक्त रविन्द्र सिंह एवं पार्षदगणो ने आवेदकों को पट्टे वितरित किये।

कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पार्षद सुमन्त सुहालका ने किया, इस अवसर पर पार्षद बालमुकन्द मालीवाल, देवराज साहू, कन्हैयालाल माली, विजय चौहान, रणजीत लोठ, दिनेश जायसवाल, कमल गुर्जर, रामगोपाल लोहार, राजेश सरगरा, सुशील जटिया, टिंकू धमानी, विजय चौधरी अमानत अली, मोहम्मद युसुफ, सुमित मीणा, नगेन्द्र सिंह राठौड़, संदीप सिंह, राजेश सोनी, राजू खटीक सहित बडी संख्या मे लाभार्थी उपस्थित थे।

40 वर्षो बाद मिला मालिकाना हक

तत्कालीन समय मे इंदिरा गांधी स्टेडियम निर्माण के दौरान वहाँ की भूमि अवाप्त की गई तथा भूमि मालिक को भूमि के बदले बीएसएनएल ऑफिस गांधी नगर मे भूमि आवंटित की गई। किन्तु लम्बे समय ने 28 सदस्य की कमेटी द्वारा काफी प्रयास करते हुए इस प्रकरण को राज्य सरकार, मानवाधिकार आयोग तक ले गये, किन्तु जब इन आवेदकों ने प्रशासन शहरों के संग अभियान मे पट्टे हेतु आवेदन किया तो सभापति संदीप शर्मा ने व्यक्तिगत रूचि लेते हुए इनके दस्तावेजो की पूर्ति करवाई तथा आज हुए पट्टा वितरण कार्यक्रम मे 25 आवेदको को पट्टे जारी किये गये।

Don`t copy text!