स्तरीय टास्क फोर्स, जिला महिला समाधान समिति एवं वन स्टॉप सेन्टर मोनिटरिंग कमेटी बैठक आयोजित।

वीरधरा न्यूज़।चित्तौड़गढ़@डेस्क।

चित्तौड़गढ़। मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद अपर्णा गुप्ता की अध्यक्षता में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं योजनान्तर्गत जिला स्तरीय टास्क फोर्स, जिला महिला समाधान समिति एवं वन स्टॉप सेन्टर मोनिटरिंग कमेटी बैठक का आयोजन सोमवार को समिति कक्ष में किया गया।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने जन्म के समय लिंगानुपात, एनिमिक महिलाओं एवं बालिकाओं की संख्या, एएनसी रजिस्ट्रेशन एवं संस्थागत प्रसव की संख्या में अंतर इत्यादि विषयों पर चर्चा करते हुए जिले में संचालित बालिका आवासीय छात्रावास एवं सरकारी विद्यालयों में बाल विवाह संरक्षण अधिनियम, पॉक्सो एक्ट-2012, गुड टच, बेड टच, सुरक्षा सखी, चाइल्ड हैल्पलाईन आदि के बारे में जानकारी हेतु पुलिस विभाग के साथ समन्वय कर कार्यशाला का आयोजन करवाने हेतु निर्देशित किया गया।
चिकित्सा विभाग एवं महिला एवं बाल विकास विभाग को आपस में समन्वय कर एएनसी रजिस्ट्रेशन व संस्थागत डिलीवरी में आ रहे अन्तर का कारण एवं सुधार हेतु निर्देशित किया गया।
वन स्टोप सेन्टर एवं महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र पर आ रहे प्रकरणों की संख्या कम होने के कारण एवं ग्राम पंचायत स्तर तक जागरूकता हेतु निर्देशित किया गया।
राजकीय चिकित्सालय से आये प्रतिनिधि डॉ भानुप्रताप को वन स्टॉप सेन्टर पर मनोचिकित्सक उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये गये। समस्त विभागों को डाटा संधारण एवं रिपोर्टिंग में सुधार लाने एवं उचित समय पर डाटा संधारित करने एवं ब्लॉकवार डाटा उपलब्ध करवाने के निर्देश दियें एवं ब्लॉक पर नियमित रूप से टास्क फोर्स बैठक आयोजित करवाने हेतु निर्देशित किया गया।
बैठक में पुलिस उपाधीक्षक साहना खानम, सहायक निदेशक राकेश कुमार तँवर, श्रम विभाग संकेत मोदी, शिक्षा विभाग (मा.) रामगोपाल जीनगर, चिकित्सा विभाग राजेन्द्र खटीक, महिला एवं बाल विकास विभाग ज्योति यादव, समता भटनागर, वन स्टॉप सेन्टर नीतु जोशी एवं महिला सुरक्षा एवं सलाह केन्द्र, सुमित्रा साहु आदि उपस्थित थे।

Don`t copy text!