कपासन पुलिस ने सूदखोरों ( ब्याजमाफियाओं ) के खिलाफ बडी कार्यवाही करते हुये तीन सूदखारों को गिरफ्तार किया।

कपासन। चित्तौड़गढ़

दिनांक 28.10.2020 को प्रार्थीया अफसाना बेगम पत्नि शरीफ खां जाति मंन्सुरी उम्र 25 साल निवासी कपासन ने एक लिखित रिर्पोट इस आशय की पेश की मेरे पति ने कस्बा कपासन से अरुण कोदली, सुजित कोदली,राहुल जयसवाल, हिमाशुं टांक से रुपये ब्याज पर उधार लिये थै। जिसके बदले मे खाली चैक व स्टाम्प लेकर रखे। मेरा पति उनके रुपये का ब्याज महिने दर महिने देता था जिसके बाद मे जब कभी एक दो दिन किस्त लेट हो जाती तो एक दिन के 500- 1000 रुपये की पेलन्टी लगा देते एवं 10 प्रतिशत का ब्याज प्रतिदिन का लगाकर इतनी रकम बना देते की मेरे पति के द्वारा हर महिने रुपये जमा कराने के बावजुद जितने रुपये लेते उससे कई गुना बाकि बता कर परेशान करते एवं घर पर आकर लडाई -झगडा करते जिससे मेरा पति एक व्यक्ति के रुपये चुकता करने के लिये दुसरे से एवं दुसरे के रुपये चुकता करने के लिये तीसरे से रुपये उधार लेते रहे। रुपयो के लिये मेरे पति से मारपीट की जाती थी। जब में प्रार्थीया एवं मेरी सास के द्वारा भी उन लोगो को समझाईस की जाती तो हमारे को भी गाली गलौच कर परेशान किया जाता था। इसी दौरान ये लोग मेरे घर पर आकर रुपयो को लेकर मेरे पति से झगडा करने लग गये जिससे मेरा पति घर से बिना बताये भाग गया। इस सदमे के कारण मेरा ससुर का देहान्त हो गया। मेरा पति पुर्व मे जब स्कुल मे टेम्पो चलाता था तब ये लोग रुपयों की किस्त के लिये स्कुल के बच्चो को रास्ते मे ही उतार कर टैम्पो खडा कर रुपये वसुलते थै। सुजित कोदली ने ब्याज का ब्याज एवं पेलन्टी लगा कर इतने रुपये बना दिये की एक दिन मेरे पति को बंधक बना कर मेरे से खाली स्टाम्प पर हस्ताक्षर करा कर मेरे प्लॉट की लिखा पढी कर उस पर हमारे को डरा धमका कर कब्जा कर लिया। इन सब लोगो से हमारे को जान का खतरा है। इन व्यक्तियों के परेशान करने के कारण मेरा पति बिना बताये घर से भाग गया एवं इस सदमे के कारण मे ससुर का देहान्त हो गया । जिसपर थाना हाजा पर प्रकरण संख्या 309/2020 धारा 384,306 भादस मे दर्ज कर अनुसंधान राजुसिह एएसआई के जिम्मे किया गया।
मामले की गंम्भीरता को ध्यान मे रखते हुए जिला पुलिस अधिक्षक जिला चित्तौडगढ श्री दीपक भार्गव आई.पी.एस. ने ऐसे ब्याज माफियाओं के खिलाफ न्यायोचित कार्यवाही के लिये निर्देश प्रदान किये गये थै। जिसपर अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक चित्तौडगढ सरितासिंह तथा श्रीमान वृताधिकारी वृत कपासन दलपतसिंह भाटी के निर्देशानुसार थानाधिकारी हिमाशुंसिह पु.नि मय टीम ने प्रकरण के तथ्यों के बारे मे गहनता से। विश्लेषण किया जाकर वैज्ञानिक तरीके से साक्षय जुटाये जाकर धमकाने की ऑडियो रिकार्डिंग प्राप्त कर साक्य संकलन किया गया। अनुसंधान से मुल्जिम 1. हिमाशुं टांक पिता भंवरलाल टांक उम्र 30 साल पेशा होटल व ब्याज का धंन्धा निवासी सज्जन वाटिका के पास कपासन 2. राहुल जायसवाल पिता विष्णु जायसवाल उम्र 29 साल पेशा ब्याज का धंन्धा निवासी पुरान राशमी रोड कपासन थाना कपासन , 3. श्री सुजीत पिता बाबुलाल हरिजन उम्र 45 साल पेशा खेती निवासी हरीजन बस्ती कपासन को गिरफ्तार किया गया । जिनको माननीय न्यायलय से पुलिस रिमाण्ड प्राप्त कर अनुसंधान किया जायेगा। एवं अन्य मुल्जिमानो की तलाश जारी हैं एवं कस्बा कपासन मे ऐसें सूदखोरों ( ब्याजमाफियाओं ) का पता लगाया जाकर उनको चिन्हित कर उनके खिलाफ साक्ष्य संकलन कर कार्यवाही करने के प्रयास किये जायेगें।