ईसीबी के 401 कार्मिकों को 210 दिनों से नहीं मिला वेतन, इस्तीफे सौंपे, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

पत्रकार श्री दुर्गेश कुमार लक्षकार की रिपोर्ट

बीकानेर। राजस्थान

कंप्यूटर कॉलेज बीकानेर में कार्मिको का वेतन समस्या के कारण दूसरे दिन भी धरना जारी रहा और सभी कार्मिकों ने महाविधालय के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन कर प्राचार्य डॉ। जयप्रकाश भाम्भू को विगत सात महीने से चल रही वेतन संबंधी समस्या के समाधान के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम का ज्ञापन प्रस्तुत करें। इन कर्मचारियों ने बताया कि कोरोना जैसी भीषण महामारी में 210 दिनों से वेतन नहीं मिलते भूखमरी और जीवन में अन्धकार फैल रहा है। ” जहां एक ओर सरकार कई केंद्रीय कॉलेजों को भी सरकारी कॉलेजों में संशोधित कर रही है, वही रेटेड सरकार के स्वयं के अधीन संचालित महाविद्यालय बीकानेर (ईबी) के कार्मिकों को वेतन नहीं दिया जा रहा है। इसके बावजूद भी कर्मचारी मानवीय मूल्यों को अपनाते हुए एआईसीटीई और तकनीकी शिक्षा विभाग, राजस्थान सरकार के सभी नियमों को स्वीकार करते हुए कृषियुओं के हित में अनेकानेक माध्यम से ऑफ़लाइन पढाई, परियोजना रिपोर्ट, समर प्रशिक्षण,

प्राचार्य को इस्तीफे सौंप

रेक्टा अध्यक्ष डॉ। शौकत अली ने बताया की अगर सरकार ने वेतन संबंधी समस्या का निराकरण शीघ्र ही नहीं किया तो यह धरना उग्र आंदोलन का रूप लेगा। इसमें सभी शैक्षणिक और प्रशासनिक कार्य ठप कर दिए जाएंगे। इसी क्रम में सभी संकाय सदस्यों द्वारा अपने प्रसाशनिक अभ्यास के रिजफे प्राचार्य को सौप दिया गया है। प्रवक्ता डॉ। धर्मेंद्र सिंह व डॉ। महेंद्र व्यास ने बताया की कोरोना महामारी जैसी कठिन परिस्थियों के बावजूद भी ईबी कॉलेज और इसकी शैक्षणिक गुणवत्ता पर लोगों का विश्वास कायम है, जिसके परिणाम स्वरूप आज भी पूरे मूल्यांकन में यहां सबसे अधिक छात्र प्रवेश ले रहे है। अब तो सरकार इसकी सुध लें।

Don`t copy text!