मतदाता सूची में 21 दिसम्बर, 2020 (सोमवार) तक जोडे सकेंगे नाम -मुख्य निर्वाचन अधिकारी, राजस्थान

वीरधरा न्यूज़। जयपुर @ श्री राहुल भारद्वाज।

19 दिसम्बर, 2020 को आयोजित होने वाली ग्राम सभा/वार्ड सभा की बैठके अब नहीं होंगी

जयपुर/दौसा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार राज्य के सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदातासूचियोंं के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान मतदाता सूचियों में पात्र व्यक्तियों द्वारा नाम जुड़वानेे, हटवाने अथवा संशोधन करवाने हेतु आवेदन पत्र 21 दिसम्बर, 2020 तक बूथ लेवल अधिकारी, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालयों में अथवा मोबाईल एप/ आयोग के वोटर सर्विस पोर्टल पर किये जा सकेंगे।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अर्हता 01.01.2021 के संदर्भ में मतदाता सूचियोंं के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत आवेदन पत्र प्रस्तुत करने की अंतिम दिनांक 21 दिसम्बर, 2020 हैैं। तथा इसके पश्चात निर्वाचक रजिस्ट्रीकरणअधिकारियों द्वारा इन आवेदन पत्रोेंं का निस्तारण दिनांक 11 जनवरी, 2021 तक किया जायेगा तथा मतदाता सूचियोंं का अंतिम प्रकाशन दिनांक 18 जनवरी, 2021 को किया जायेगा। प्रवीण गुप्ता नेे यह स्पष्ट किया कि मतदाता सूची में नाम जुड़वाने, हटवाने अथवा संशोधन की प्रक्रिया एक सतत प्रक्रिया है तथा 18 जनवरी, 2021 के बाद दिनांक 01 जनवरी, 2021 कोे 18 वर्र्ष की आयु प्राप्त कर चुके पात्र व्यक्ति जिनके द्वारा पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान आवेदन नहीं किया गया है वह ऑफलाईन अथवा ऑनलाईन माध्यम से आवेदन कर सकेंगे।
श्री प्रवीण गुप्ता ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम केअनुसार पुनरीक्षण कार्यक्रम की अवधि में 19 दिसम्बर, 2020 (शनिवार) को सभी विधानसभा क्षेत्रों में ग्राम सभा/ वार्ड सभा की बैठकों का आयोजन किया जाना निर्धारित था, किन्तु कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए इन बैठको कोे निरस्त कर दिया गया है। अब बूथ लेवल अधिकारी 19 दिसम्बर, 2020 को प्रातः 10.00 बजे से दोपहर 01.00 बजे तक मतदान केंद्र पर उपस्थित रह कर दावे एवं आपत्तियों के प्रार्थना पत्र प्राप्त करेंगे, वहीं आवेदन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि 21 दिसम्बर, 2020 कोे अपने क्षेत्र के पंजीयक, जन्म एवं मृत्यु कार्यालय में सम्पर्क कर मृत व्यक्तियों की सूची प्राप्त करेंगेे ताकि इनका नियमानुसार मतदाता सूची से नाम विलोपित किया जा सके। साथ ही जन्म के रिकार्ड के आधार पर यह भी सुनिश्चित करेंगे कि 01 जनवरी, 2021 कोे 18 वर्ष की आयुप्राप्त करने वाले सभी पंजीकृत व्यक्तियों के नाम मतदाता सूची में दर्ज हैैं अथवा नही तद्नुसार आवेदन पत्र प्राप्त करेंगेे। इन कार्यालयों में सम्पर्क के दौरान बूथ लेवल अधिकारी, विवाह पंजीकरण रिकार्ड के अनुसार उन नव विवाहिताओ सें भी प्रारूप-6 में आवेदन पत्र भरवाने की कार्यवाही करेगेें, जिनका की अभी तक मतदाता सूची में पंजीकरण नहीं हुआ है।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने वर्तमान पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान अब तक प्राप्त आवेदन पत्रों की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य के विभिन्न जिलों में आज दिनांंक तक कुल 8,31000 सेे अधिक आवेदन पत्र प्राप्त हुए है, इनमे सेे मतदाता सूची में नाम जुड़वाने हेतु 5.50 लाख से अधिक आवेदन पत्र प्राप्त हुए। इसी प्रकार सेे मतदाता सूची में नाम हटवाने हेतु प्रारूप-7 में 1.62 लाख आक्षेप प्राप्त किये गये है तथा संशोधन हेतु 1 लाख आवेदन किये गये हैैं। श्री प्रवीण गुप्ता ने कोविड-19 के होनेे के बाद भी राज्य के नागरिकों द्वारा पुनरीक्षण कार्यक्रम में उनकी सहभागिता पर प्रसन्नता जाहिर की हैै तथा मतदाता सूची में पंजीकरण से शेष रहे पात्र व्यक्तियों विशेषकर 18-19 आयु वर्ग के युवाओं से आव्हान किया है कि वह 21 दिसम्बर, 2020 तक आवश्यक रूप सेे ऑफलाईन/ ऑनलाईन आवेदन भर कर प्रस्तुत करे, ताकि विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की मतदाता सूचियोेंं में शतः प्रतिशत पात्र व्यक्तियों का पंजीकरण सुनिश्चित किया जा सके।
श्री गुप्ता ने मतदाता सूची में पंजीकरण से शेष रहे पात्र व्यक्तियोेंं को प्राथमिकता के आधार पर ऑनलाईन आवेदन पत्र भर कर प्रस्तुत करने का आव्हान किया। उन्होंने अवगत कराया कि इसके लिये वह भारत निर्वाचन आयोग के मतदाता सेवा पोर्टल http://voterportal.eci.gov.in पर मतदाता सूची में पंजीकरण हेतु आवेदन कर सकते है तथा पंजीकृत मतदाता अपनी प्रविष्टि की जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैैं। इसके साथ-साथ वोटर हैल्प लाईन मोबाईल एप पर भी पंजीकरण की कार्यवाही की जा सकती है। सूचियों से संबंधित विभिन्न जानकारी हेतु टोल फ्री नम्बर 1950 पर कॉल कर सम्पर्क कियाजा सकता है।