लॉक डाउन में भी सांवलिया सेठ के दर बरसा धन, निकली साढ़े चार करोड़ की राशि

वीरधरा न्यूज़। चित्तौड़गढ़ @ श्री सत्यनारायण कुमावत।
चित्तौड़गढ़। जिले के भदेसर उपखण्ड में स्थित प्रख्यात कृष्ण धाम चित्तौड़गढ़ जिले के मंडफिया स्थित सांवलियाजी मंदिर में रविवार को चतुर्दशी के अवसर पर खोले गए भंडार से 4 करोड़ 55 लाख रुपए की राशि निकली है। शेष नोटों की गिनती बाद में की जायेगी। वहीं भेंट कक्ष में एक माह में सबसे अधिक 67 लाख 21 हजार 258 की राशि के साथ स्वर्ण व रजत आभूषण भी प्राप्त हुए हैं।

जानकारी के अनुसार लॉक डाउन के बाद पहली सोमवती अमावस्या पर भी सोमवार को भगवान सांवलिया सेठ के दर्शन नहीं हो पाएंगे। जानकारी के अनुसार भगवान सांवलिया सेठ के मंदिर में राजभोग आरती के बाद मंदिर का भंडार ओसरा पुजारी चुन्नीदास, मंदिर मंडल अध्यक्ष कन्हैया दास, सदस्य भैरूलाल गाडरी ,भेरु लाल जाट व मदन लाल व्यास उपस्थिति में खोला गया। भंडार से नगदी के अलावा स्वर्ण व रजत आभूषण भी निकले हैं। लेकिन इन जेवर का तौल नहीं हो पाया है। वहीं मंदिर के भेंट कक्ष में पिछले एक माह में 9 किलो 107 ग्राम रजत व 129 ग्राम 800 मिलीग्राम स्वर्ण आभूषण प्राप्त हुए हैं। गत वर्ष की अमावस्या पर 6 करोड़ 55 लाख रुपए की राशि निकली थी। इस भंडार से 8 बोरों में भरे नोटों की गिनती शेष है, जिनकी गिनती आने वाले दिनों में की जाएगी। नोटों की गिनती के अवसर पर मंदिर मंडल के लेखाधिकारी विकास कुमार सूरेला, रोकडिया नंदकिशोर टेलर, लहरी लाल गाडरी, कालूलाल तेली संजय मंडोवरा सहित मंदिर मंडल के कर्मचारी व बैंक कर्मी उपस्थित थे। शेष रहे भंडार की आगामी दिनों में गणना होगी। वहीं जानकारी मिली है कि लॉक डाउन की अवधि में पहली सोमवती अमावस्या मिल रही है। यह दर्शन बहुत ही श्रेष्ठ माने जाते हैं लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते जिला कलक्टर के आदेश पर चतुर्दशी व अमावस्या तथा प्रत्येक रविवार को भगवान सांवलिया सेठ के दर्शन बंद रहते हैं। इस वजह से सोमवार को श्रद्धालु दर्शन लाभ नहीं ले पाएंगे।