एसीबी का एएसपी 80 हजार रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा गया, डीटीओ देता था मासिककबन्दी

वीरधरा न्यूज़। भीलवाड़ा @ श्री निलेश कांठेड़
भीलवाड़ा। सरकार भ्रष्टाचार रोकने के बड़े बड़े दावे तो करती है लेकिन जमीनी धरातल पर हालात विपरीत ही नजर आ रहे है। कुछ दिन पहले भीलवाड़ा नगर विकास न्यास के तीन अभियंताओं को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ने वाले भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) खुद ही इस बार फंस गया है। एसीबी के सवाई माधोपुर एएसपी को 80 हजार रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा गया है।उसे डीटीओ मासिकबन्दी देता था। घुस देने वाला अफसर भी पकड़ा गया है। अब सवाल ये है कि कैसे रुकेगा भ्रष्टाचार, जिन पर रोकने की जिम्मेदारी वो ही घूसखोरी में लिप्त हो रहे है। जनता किस पर भरोसा करेंगी।
भ्रष्टाचार उन्मूलन दिवस पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) का ही एक अधिकारी 80 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा गया। एसीबी टीम ने इस अधिकारी को मासिक बंधी के रुप में रिश्वत दे रहे जिला परिवहन अधिकारी महेशचंद को भी रिश्वत देने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया।
एसीबी-डीजी बीएल सोनी ने बताया कि रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ टोंक निवासी भैरुंलाल मीणा है। वह राजस्थान पुलिस में डिप्टी एसपी है। भैरुंलाल मीणा के पास एडिशनल एसपी, सवाईमाधोपुर जिले में एसीबी की चौकी का प्रभार भी है। उसका वर्ष 2022 में तबादला होना है।
डीजी सोनी के अनुसार पिछले कुछ महीनों से शिकायत मिल रही थी कि सवाईमाधोपुर एसीबी चौकी प्रभारी भैरुंलाल मीणा वहां कई विभागों के अफसरों से ट्रेप कार्रवाई नहीं करने की एवज में मासिक बंधी के रुप में रिश्वत वसूल रहा है। इस पर एडीजी दिनेश एमएन के निर्देशन में पिछले दो-तीन महीनों से एसीबी टीम ने अपने ही चौकी प्रभारी अफसर मीणा पर निगरानी रखीं।
एडीजी दिनेश एमएन के अनुसार सूचना मिली कि सवाई माधोपुर में जिला परिवहन अधिकारी महेशचंद बुधवार को भैरुंलाल मीणा के ऑफिस में जाकर उन्हें मासिक बंधी में रिश्वत की रकम देने वाला है। तब जयपुर में एसीबी मुख्यालय के प्रभारी एडिशनल एसपी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ और डिप्टी एसपी मांगीलाल के नेतृत्व में टीम को सवाईमाधोपुर भेजा गया। वहां रिश्वत लेने व देने के आरोप में आरपीएस भैरुंलाल मीणा व डीटीओ महेशचंद को गिरफ्तार कर लिया। उनके निजी आवासों पर सर्च कार्रवाई जारी है। एसपी योगेश दाधीच को भी मॉनिटरिंग के लिए सवाईमाधोपुर भेजा गया है।