अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनके त्याग, बलिदान ओर संघर्ष को याद किया।

वीरधरा न्यूज़।बड़ी सादड़ी @ श्री बंशीलाल धाकड़

बड़ीसादड़ी। संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के 65वें महापरिनिर्वाण दिवस पर बड़ी सादड़ी में अनुयायियों ने अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण और पुष्प अर्पित करते हुए उनके साहस त्याग बलिदान व संघर्ष को याद किया।
डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जन्मोत्सव समिति वे अध्यक्ष मांगीलाल मेघवाल बिलोट ने बताया कि डूंगला बड़ीसादड़ी तहसील से आए अनेक अनुयायियों ने पुष्प अर्पित कर बाबासाहेब के साहित्य और संविधान को स्कूली शिक्षा के पाठ्यक्रम में जोड़कर विद्यालय में पढ़ाने के लिए भारत सरकार और राज्य सरकार से मांग की।
इस दौरान अध्यक्ष मांगीलाल मेघवाल बिलोट, पार्षद गणेश वाल्मीकि, पार्षद भंवर लाल रेगर, पेंटर नंदलाल रेगर, भेरू लाल मेघवाल, भगवती लाल बोरीवाल, रामेश्वर मेघवाल, पेंटर लतीफ, बद्री लाल मेघवाल, राजमल मेघवाल, मोहम्मद महमूद हुसैन, रूप लाल रेगर, रवि रेगर, गोविंद रेगर, उदय लाल रेगर, मोहनलाल मेघवाल, यशवंत रेगर, तेजमल चमार, सुभाष चौहान, राजू रेगर, जगमोहन राम, भगत मीणा, कुंदन कोली, हरीश धोबी, देवीलाल कसारा, रामचंद्र बुनकर, घनश्याम मीणा, बृजमोहन रेगर, प्यारे लाल मीणा, सूरज मल रेगर सहित डूंगला बड़ीसादड़ी तहसील के अन्य को अनुयाई उपस्थित थे।