धाकड़ समाज हुआ लामबंध सरपँच पति के साथ हुई घटना की न्यायिक जाँच एवं घटना में लिप्त पुलिस कर्मियों को सस्पेंड करने की मांग

वीरधरा न्यूज़। चित्तौड़गढ़ @ श्री दुर्गेश कुमार लक्षकार
राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में कई राज्यो से आये धाकड़ समाज के लोगो द्वारा लामबंध होकर जिला कलेक्टर सर्कल पहुंच कर न्याय यात्रा निकाली गई और न्याय की मांग की गई। पुलिस अधीक्षक को सरपँच पति पर जानलेवा हमले पर कार्यवाही करने को लेकर ज्ञापन सौपा गया।


चित्तौड़गढ़ की एक ग्राम पंचायत रायता के सरपंच पति हेमराज धाकड़ निवासी रायती का होकर कृषि कार्य के साथ फोकलेन, जेसीबी, डम्पर से खुदाई का काम भी करता है। जिनमें रावतभाटा की कम्पनी एवं बेगू में कंम्पनी है। जिसमें विगत 2 वर्षो से कार्य करते थे। लंबे समय से कम्पनी में कार्यरत ठेकेदार कम्पनी से तो पैसे ले लेते थे परंतु हेमराज को नही देते थे। इसको लेकर खिचतांन चलती आ रही थी। कई व्यक्ति इसमें शामिल भी हुए थे। इस बीच 18.11 2020 को पारसोली थाने में पदस्थ एस.आई. संजय एवं उनके सहकर्मी दुर्गेश उनके साथ -4 लोग और थे आए और रायता में होटल पर बैठे हेमराज को गाडी में बैठाकर ले गये दूर जाकर सभी ने मिलकर हेमराज के साथ मार-पिट की ओर मृत अवस्था में समझ कर फोरलेन रोड पर डाल दिया वहा से गुजर रहे राहगीर ने इन्हे हॉस्पीटल भिजवाया। अस्पताल में बयान देकर घटना की सारी जानकारी दी गई उसके बाद यह जॉच डिप्टी राजेन्द्र जैन को दी गई जब जॉच चल रही थी, तब दो चार सौ लोगो को थाने पर बयान के नाम पर बुलाया और धमकाया लगभग लोगो के साथ मार-पिट भी की गई बयान लेते वक्त दोषी पुलिस ही बयान लेने का काम करते थे और मार-पीट भी करते थे। इससे यह पता चलता है कि कानून को ताक पर रखकर घटना को अंजाम भी दिया और जॉच में गंभीर लापरवाही की गई है। जब हमने जानता चाहा कि दोषियों पर कार्यवाही क्यों नही हो रही है। हरबार कार्यवाही चल रही है यह कहकर समझा दिया गया। पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी इस तरह का व्यवहार करेंगे तो निश्चित ही जनता का विश्वास पुलिस व प्रशासन पर नही रहेगा। इस पूरे मामले में पुलिस अधिकारी ने जो व्यवहार किया हैं वह निंदनीय है। ओर जांच को प्रभावित किया वो एक निंदनीय कार्य है।

इसलिए हम मांग करते है कि संजय सिंह, दुर्गेश व जांच अधिकारी राजेन्द्र जैन को तत्काल प्रभाव से निलम्बीत किया जावे और इस पूरे मामले की न्यायिक जांच की अनुशंसा की जावें। मांगे नही माँगे जाने पर धाकड़ समाज द्वारा उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी गई है।

Don`t copy text!