सात्विक और संयमित भोजन लें, सदा स्वस्थ रहेंगे – डॉ मुनि शांतिप्रिय सागर

वीरधरा न्यूज़ । इंदौर
सैकड़ों साधकों ने महावीर बाग में किए संबोधि पावर योगा के प्रयोग
इंदौर 19 नवंबर। एरोड्रम रोड स्थित महावीर बाग में ध्यान योग शिविर के दूसरे दिन सैकड़ों साधक भाई बहनों ने फिजिकल और मेंटल पावर को बूस्ट करने के लिए संबोधि पावर योगा के प्रयोग किए।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए डॉ मुनि शांतिप्रिय सागर ने कहा कि स्वास्थ्य का पहला चरण है प्रॉपर डाइट। अगर हम संयमित सात्विक शुद्ध और ताजा भोजन लेंगे तो कभी बीमार नहीं पड़ेंगे। 50% बीमारियां भोजन की गड़बड़ी के कारण ही होती है। आयुर्वेद के अनुसार भोजन में तीन बातों का ध्यान रखना चाहिए – हितकारी भोजन, सीमित भोजन और ऋतु के अनुसार भोजन हो। हमें नाश्ते में मौसम के भरपेट फल खाने चाहिए, दोपहर में सब्जी रोटी दाल चावल सलाद और छाछ लेना चाहिए और शाम को जूस सूप दलिया या खिचड़ी आदि हल्का-फुल्का भोजन करना चाहिए।
उन्होंने कहा कि भोजन करने से पहले मुस्कुराएं, प्रभु का स्मरण करें, बड़े हुए नाखून काट लें और सब को भरपेट भोजन खाने को मिले ऐसी प्रार्थना करें। भोजन करते हुए भूख से थोड़ा कम खाएं, पौष्टिक भोजन लें, मिल बांट कर खाएं और उग्र प्रतिक्रिया न करें। भोजन की थाली में झूठा न छोड़ें। उतना ही लें थाली में कि व्यर्थ न जाए नाली में। भोजन के बाद खाली धोकर के रखें। 1 घंटे तक पानी ना पिए भोजन बनाने वाले को धन्यवाद दें और भोजन के परिणाम पर गौर करें। भोजन के कारण कब्ज एसिडिटी न हो और मोटापा न बढ़े इसका विशेष ध्यान रखें क्योंकि कब्ज और मोटापा सैकड़ों रोगों का कारण है।
इससे पूर्व मुनि प्रवर ने साधकों को क्लैपिंग थेरेपी, रबिंग थेरेपी, स्माइलिंग थेरेपी और प्राणायाम व संबोधि ध्यान के विविध प्रयोग सिखाएं।


संघ अध्यक्ष धर्मेंद्र मेहता ने बताया कि 20 नवंबर को सुबह 7 से 9 तक ध्यान और योग शिविर का लाइव आयोजन यूट्यूब पर शांतिप्रिय सागर चैनल से प्रसारित होगा।

Don`t copy text!