पालिका प्रशासन पर भूमाफियाओं से सांठगांठ का आरोप, पीड़ित को प्रशासक की धौंस जहां जाना है जाओ, हमारा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता

पत्रकार श्री दुर्गेश कुमार लक्षकार की रिपोर्ट
बीकानेर– देशनोक पालिका द्वारा आवंटित भू- खण्ड पर निर्मित आवास के रास्ते पर भूमाफियाओं ने कब्जा कर रखा है। करणी इंद्रा बस्ती में आवंटित प्लाट के नक्शे के अनुसार मुख्य मार्ग 50 फुट व आस पास का मार्ग 40 फुट का है लेकिन भूमाफियाओं ने पूरे रास्ते पर अतिक्रमण कर रखा है।शिकायतों पर पालिका प्रशासन पीड़ित को राहत देने के नाम पर रसूखदार सत्ताधारियों की धौंस दिखाकर डराने का काम कर रहे है।
भूमाफियाओं से त्रस्त करणी इंद्रा बस्ती निवासी प्रवीण भूरा पिछले कई वर्षों से देशनोक पालिका के चक्कर लगा रहा है।पालिका से लेकर सूबे के मंत्री तक से न्याय की गुहार लगा चुका है।ऑनलाइन भी कईबार शिकायते कर चुका है।पालिका प्रशासन हरबार शिकायत के निवारण का छुठा जवाब प्रेषित कर इतिश्री कर लेता है।
पीड़ित भूरा ने शुक्रवार को देशनोक दौरे के दौरान उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी को ज्ञापन सौंपकर न्याय की गुहार लगाई है। ज्ञापन में भूरा ने स्थानीय वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व पालिका प्रशासन पर मिलीभगत का गंभीर आरोप लगाया है।ज्ञापन में मंत्रीजी के नाम से  धमकाने तक का आरोप लगाया है।

*यह है मामला*
देशनोक पालिका की करणी हरिजन बस्ती में प्रवीण भूरा के पिता झंवरलाल भूरा के नाम से दो भूखण्ड संख्या 380व 366 आवंटित है।बस्ती के नक्शे में 50 फूट में मुख्य मार्ग व 40 फुट के आसपास के मार्ग पर भूमाफियों का कब्ज़ा है।तीन दिसंबर 2019 को झंवरलाल भूरा की मृत्यु हो गई।लेकिन रास्ते पर भूमाफियाओं के कब्जे के कारण अंतिम शवयात्रा के लिए पीड़ित को अपने पिता का शव अन्यत्र ले जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ा।उस समय मौके पर पहुंची तत्कालीन अधिशाषी अधिकारी सुश्री राजल राव ने 15 दिन में रास्त अतिक्रमण मुक्त कराने का आश्वासन दिया था।लेकिन अभीतक कोई कार्यवाही नही हुई।इस बीच पीड़ित ने बीकानेर ज़िला कलेक्टर से गुहार लगाई ।तत्कालीन जिला कलेक्टर कुमारपाल गौतम ने 31 जनवरी आदेश पत्र संख्या 288 2020 व  17 फरवरी आदेश पत्र संख्या 456 प्रेषित कर पीड़ित को उचित न्याय व राहत प्रदान कर अविलम्ब रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आदेशित किया था।लेकिन देशनोक पालिका प्रशासन ने पीड़ित को राहत प्रदान करने के वजाय भूमाफियाओं को बचाने में जुटा है।

Don`t copy text!